On Page SEO (Search Engine Optimization) Kaise Kare

Hello friends हमारी Website में आपका welcome है। आज में आपको अपने Blog Website की Post के लिए On Page SEO Kaise Kare या Blog Ko SEO Friendly Kaise Banaye इन topic बारे में पूरी जानकारी आप सभी को बताने वाला हूँ।

हमने एक Blog Website तो create कर लिया है और उसमें हम article भी लिखते हैं लेकिन उस article में हम seo नहीं करेंगे तो वह article कभी भी google में renk नहीं होगा।

Free Blog website create करना बहुत आसान है लेकिन उसके बाद की क्या - क्या प्रॉसेस है वह सब हमे सीखनी होगी। अगर हम सीखते नहीं हैं तो Blogging में हमारा कोई काम नहीं है।



इसलिए जो भी new blogger है उन्हें अपनी website की post के लिए SEO क्या है, On page seo कैसे करे यह सब जानकारी जाननी बहुत जरूरी है तभी वह Blogging के क्षेत्र में आगे बढ़ सकता है।

आपने एक बार अच्छे से SEO करना सीख लिया तो आपकी website जरूर google में renk होगी और आप जब भी new articles अपनी वेबसाइट के लिये लिखेंगे तभी आपको अपने आप पर भरोसा रहेगा कि में जो भी article लिखूंगा वह जरूर गूगल में रेंक करेगा।

आपने जितनी भी Post अपने blog में publish करके रखी हुई है या न्यू पोस्ट publish करना चाहते हैं तब आपके मन में एक सवाल जरूर आता है कि मे जो article लिखता हूँ वह क्यो renk नहीं हो रहा है और दूसरे लोग article लिखते है उनका article renk हो जाता है। इसका समाधान करने के लिए आप youtube का सहारा लेते हैं और वहां पर बोला जाता है कि Seo friendly article लिखो। आप समझ ही नहीं पाते हैं कि Website SEO क्या है।

SEO तीन प्रकार का होता हैं?

On Page Optimization
Off Page Optimization
Technical SEO

इन तीनों में On Page and Off SEO दोनों मुख्य है, लेकिन हमारे पास इनके बारे में कोई पूर्ति जानकारी न होने के कारण हमारी post google के first page पर renk नहीं हो पाती है।


जो भी हमारे New Blogger है उन्हें SEO, Onpage Optimization, Search Engines, Search Rank, First Page Ranking and other SEO factors के बारे में confusion और questions मन में बनते ही रहते है। क्योंकि Search Engine Optimization easy नहीं है।

उसे सीखने के लिए बहुत कुछ सीखना समझना पड़ता है और बड़े बड़े blogger or website के owners को इसमें problem होती है। जो नहीं जानते कि post content में keywords को कैसे target placement किया जाता है उनको इस article में सीखने को मिलेगा।

सबसे पहले हमें Basic जानकारी पता होनी चाहिए इसलिए हमें पहले seo क्या है उसके बारे में समझना होगा।


SEO क्या है? 


What Is SEO Hindi इस बारे में हमने पहले ही आर्टिकल लिखा है आप चाहें तो पढ़ सकते है। SEO Full form (Search Engine Optimization) है। यही एक ऐसा माध्यम है जिससे हम और आप अपनी वेबसाइट की पोस्ट को गूगल में रेंक करा सकते है।



Google Search Console उन्हीं Website post को top 10 में renk करता है जिनकी website पर high quality and unique content है और उसके साथ perfect तरीके से on page seo किया गया है और उनकी page Authority बाकियों के मुकाबले high है।

High Authority का मतलब है कि जो भी post renk कर रही है उस post के साथ top page link होते है जैसे की आपकी कोई post है उसमें google के high top page आपकी website के post page के साथ link है तो आपके blog website की page Authority ज्यादा होगी।

SEO का मैन कार्य यही होता कि वह article की renking incarege करता है और organic traffic provide करवाता है।

Website & Blog पर new articles या old post को optimize करते समय हम जो post title, content, keywords, heading, permalink, images, first and last paragraph, highlight text, internal & external links, Focus keyword and other SEO techniques इन methods का सही तरीके से उपयोग करते हैं तो उसे ही On Page Search Engine Optimization कहते है।

seo kya hai, search engine optimization kya hai, on page seo kya hota hai



Blog Website को Google के First Page पर लाने के लिए On Page SEO Kaise Kare 


Website का on page optimization करने से आपको बहोत फायदे होते हैं। आपने seo अच्छी तरह से complete करके रखा है तो जहां जहां आपने अपनी website के लिये backlinks बनाय है उनसे भी traffic आ सकता है।

Google के first page पर आने के लिए आपको high quality unique and original content, high cpc keywords, high renking पाने के लिए इन सबको आपको ध्यान में रखकर अपनी post को लिखना है। चलिये दोस्तों आपका ज्यादा समय न लेते हुऐ सीधे अपने मैन मुदे पर बात करते है।


Meta Titles


जब आपने अच्छा Keyword अपनी पोस्ट के लिये choose कर लिया है लेकिन जब तक आप उस keyword को एक अच्छे Title मे Convert नहीं करते तब तक वह किसी काम का नहीं है। Post की renking बढ़ाने के लिए title का बहुत महत्वपूर्ण है।

जैसे की आपने बहुत ही अच्छा article लिख कर अपने Blog में publish कर दिया है लेकिन उसमें आपने Title में कुछ mistek कर दी तो वह आपका seo friendly title नहीं होगा।

आपकों अपनी Post का Title 55 से 60 charecter तक या maximum 70 ही होना चाहिए उससे ज्यादा नहीं होना चाहिए। अगर इससे ज्यादा हुए तो Google Search में hide हो सकते हैं।


Use Keywords


Keyword website की traffic लाने के लिए बहुत अहम भूमिका निभाते हैं क्योंकि इसके बिना post कभी भी google में renk नहीं हो पायेगी।

कोई भी search engine है उसमें कोई व्यक्ति Keyword को Search करता है और वह keyword आपके post में है तो google उसे ही first page पर index करवाता है।

आप एक keyword को 2.5% to 3% से ज्यादा use नहीं कर सकते हैं मतलब है कि आपने अपने blog में 1000 Words का article लिखा है तो उसमें 15 - 20 से ज्यादाबार keyword को repeat नहीं कर सकते हैं नहीं तो Keyword stuffing हो जायेगा जो seo के खिलाफ कहलाता है।

कहते हैं कि आप ज्यादा Keyword अपनी post में use करते है तो आपका article google में जल्दी renk करेगा हां सही है लेकिन उसके लिए आपको ज्यादा content लिखना होगा।


Permalink


आपने अपने Blog पर post लिखते समय जो keyword का use किया है वही keyword आपके Permalink में add करना है और Custom permalink ही select करना है। Permalink इस तरह से create करना है जो seo friendly url की तरह होना चाहिए वरना google की नजर में उसकी कोई अच्छी इफेक्ट्स नहीं बनती है और post का permalink छोटा ही रखना है जिसमें कम words ही आने चाहिये। 

Permalink post पर जाने का रास्ता होता है इसमें आपको extra words का use नहीं कर सकते लेकिन आप लोग उन्ही word को use करते है जैसे की on page seo ki jankari and tips hindi me इस तरह का permalink बिल्कुल भी use नहीं करना है उसकी जगह on-page-seo-optimization आपने post link में sembol, bracelets, coma इत्यादि का उपयोग किया है तो उन्हें remove कर देना है। 

Blog post url मतलब कि Permalink में आपको stop words को use नहीं करना है जैसे की all, be, can, to, in, for इस तरह के ओर भी words है वह में आपको एक new article में बताऊंगा उन सब को avoid करना है।


Meta tag Description


हम अपने Blog में जो articles लिखते है उसमें हम जो keyword use करते हैं उस keywords से relative और भी कहीं सारे keywords होते हैं उसके बारे में google को किस तरह से पता चलेगा कि यह article किस topic पर है या कोई search करेगा तो वह किस तरह से search करता है उस हिसाब से हमें titles बनाकर उन सबको description में add करना होता है तो उसी को ही meta tag description कहते है।

140 words ही Description में लिखना है अगर उससे ज्यादा होता है तो उसकी renking down रहती है और post seo friendly नहीं रहती है। इसलिए Website के प्रत्येक page की एक unique meta descriptions होनी चाहिये जिससे automatically SERPs में show हो सके।

Meta description में आप जो भी words add करते वह user friendly होने चाहिए। मतलब कि users क्या search करते हैं उस हिसाब से।


Header tags


यह बहुत ही impotent होते हैं क्योंकि हम जब भी post लिखते हैं जैसे की Wordpress मे h1, h2, h3, इस तरह के tag use करते हैं और Blogger में heading, subheading, miner heading इस तरह के tag का इस्तेमाल करते हैं। यह हम इस लिये करते हैं क्योंकि इससे Page सही तरीके से categorize किया है उस तरह दिखता है।

अगर हम अपने articles में इस तरह के tags का उपयोग नहीं करते हैं तो वह article कभी भी google search में उसकी value कुछ भी नहीं रहेगी।

जो New blogger है उनसे इस तरह की गलतियां होती हैं कि वह लोग heading को बार बार use करते हैं लेकिन आपको यह सब नहीं करना है और आपने इस तरह की गलती कर दी है तो उसे जल्द से जल्द सुधारे। जिससे आपको search engine से अच्छा traffic मिल सके।


Image Alt tags


Image भी post को renk कराने में मदद करती है। हमने अपने article में एक अच्छी और user को जो information चाहिए उस हिसाब से image create की है तो visiter अपने आप हमारी post को Read करने आएंगे। on page seo के लिए images का seo होना बहुत जरूरी है।

आपने अपनी पोस्ट में बेकार की Image लगा रखी है या use करने वाले हैं तो इस तरह की images को अपने blog post में use नहीं करनी है और जहां जरूर है वही image को add करना है।



Image size को जितना हो सके उतनी कम size में ही रखना है इससे यह होगा कि वह ज्यादा lodging time नहीं लेगा और user को भी article पढ़ते समय अच्छा लगेगा।

Image alt tag मे वही keywords add करना है जो आपका main keyword है बाकी फालतू के Keyword को use करने से आपका Bad Seo हो सकता है। इसमें आप targeting keywords का उपयोग करते हैं तो आप अपने post को ओर seo friendly बना सकते है।

आप को कभी भी copyright images अपने Blog Website में use नहीं करनी है और Internet पर बहुत सी website है जो without copyright images or videos provide करती है।


Add External and Internal Link


आप ने जो भी articles लिखे है उसके relative और भी post publish की है उन सब में आपको अपनी दूसरी post का link add करना है। इस तरह से search engine में renking तो बढती है साथ ही आपकी website पर pageview बढ़ते है इसका मतलब है एक post को पढ़ते हुए visiter आपकी दूसरी post पर भी आ सकता है।


External Link


External link का मतलब है कि किसी दूसरे की site का link अपनी post में add करना। जैसे की आपने WhatsApp के बारे में article लिखा है उसमें आप whatsapp की Official website का link देते है तो इससे आपकी website की google search engine में renking बढ़ती है और seo quality भी incarege होती है। किसी low quality website का link अपने blog post में नहीं देना है जैसे कि जिस website का spam score ज्यादा है, adults, gaming इस तरह की third parties इससे आपकी Website की renking low हो सकती है।


Internal Link


Internel link का मतलब है कि अपनी post में दूसरी post का link देना। याद रहे वही link देना है जो आप post लिख रहे हैं उस category की आपने और भी पोस्ट publish कर रखी है जैसे की आप Blogging के बारे में article लिख रहे हैं और Blogging के उपर आपने ओर भी post लिखी है तो उनका ही link add करना है।


Anchor Text


Anchor text वो hyper text है जिसे हम अपनी एक post से दूसरी post पर जाने के लिये visiters का ध्यान केंद्रित करते है। सरल शब्दों में कहें तो हमारे post में use होने वाले external and internal link यही anchor text है लेकिन यह तभी बेहतर बनता है जब search engine की Policy को follow करता है।

Anchor text और url दोनों एक जेसे होने चाहिए इससे यह फायदा होगा कि आपकी पोस्ट की renking कराने में बहुत आसानी रहती है।

बहुत से ऐसे blogger है जो anchor text use करते समय बहुत गलतियां करते हैं वह लोगो सही शब्दों की जगह गलत शब्दों का प्रयोग करते हैं आपको बिल्कुल भी ऐसा नहीं करना है।


Website Speed


हमारी Website की speed कितनी है उस पर हमें ध्यान देना जरूरी है क्योंकि google search engine हमारी site की loading speed check करता रहता है।

उसके लिए बहोत से Templates है जो free भी है और उनकी Loading speed भी बहुत अच्छी है। आपको अपने Blog के homepage में 6 से ज्यादा post को एड नहीं करना है।

एक बात हमेशा याद रहे users उन्हीं post पर visit करता है जिन post का loading time 4 seconds के अंदर है। इसलिए आपको अपने Blog का loading समय ज्यादा है तो उसे कम करना होगा।


Mobile Friendly


आज के समय में हर छोटे या बड़े इंसान के पास mobile phone है और यह सभी internet का उपयोग mobile से ही करते है।

आपको इसके लिए अपनी post और theme दोनों को mobile friendly बनाना होगा। यह सब करने से आपको ही फायदा होगा कि आपके blog पर mobile phone से ज्यादा traffic मिलेगा और आपकी Earning भी अच्छी होगी।

इन articles को जरूर पढ़े. 



Conclusion


आज का यह लेख आपको बहुत महत्वपूर्ण साबित होगा क्योंकि यह On Page SEO कैसे करें उसके बारे में जानकारी है। मुझे उम्मीद है कि मेरे द्वार बताई गई सारी information आपको जरूर पसंद आई होगी।

दोस्तों SEO के बारे में जितना लिखूं उतना कम है क्योंकि इसकी कोई सीमा नहीं है, वेसे भी मेरा यह article बहुत बड़ा हो गया है लेकिन इसमें जितनी जरूरत है उतनी जानकारी मेने आपके साथ शेयर की है।

यह तो आप अच्छी तरह से समझ सकते हैं कि बिना SEO Setting कोई भी article renking list में नहीं आ सकता है।

यदि आपको यह article helpful लगता है और आपने इसे read भी किया है और आपको कुछ सीखने को मिला है तो कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों and Social media जैसे कि WhatsApp, Facebook, Twitter पर जरूर share करें।


Tags 

on page seo 
article ke liye on page seo kaise kare 
on page seo 
seo renking tips 
on page seo techniques 
seo hindi 
on page seo kya hai 
on page seo tips
search engine optimisation 
on page seo kaise kare 2020 

Previous
Next Post »